क्या koo app करेगा ट्विटर को रिप्लेस, जानिए क्या है koo?

Koo app भारतीय सॉफ्टवेयर डेवलपर द्वारा तैयार की गयी एक ऐप्प हैं। जो की हॉल ही में लॉच हुई है तथा इसे ट्विटर जैसे ऐप्प को टक्क्रर देने के लिए लॉच किया गया हैं। तथा इस ऐप्प ने ” आत्मनिर्भर ऐप्प इनोवेशन चैलेंज ” में जीता हैं। इस ऐप्प में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े।

koo app

क्या हैं koo app ?

  • Koo एक मोबाइल ऐप्प है, जिसे भारत में निर्मित किया गया है तथा यह ऐप्प पूर्णतः स्वदेशी ऐप्प हैं।
  • यह एक सोशल मीडिया की ऐप्प है जिसे भारतीय सॉफ्टवेयर डेवलपर द्वारा डेवेलॅप किया गया हैं।
  • यह ऐप्प मुख्य्तः ट्वीटर का एक विकल्प है, तथा यह कई सारी भाषाओ में उपलब्ध हैं।
  • इस ऐप्प के फाउंडर एप्रेम राधाकृष्ण और मयंक बिदावतका हैं।
  • तथा इस ऐप्प ने “आत्मनिर्भर ऐप्प इनोवेशन चैलेंज” का खिताब भी जीता हैं।

कहाँ से डाऊनलोड करें koo app ?

  • यह ऐप्प गूगल प्ले स्टोर तथा एप्पल के ऐप्प स्टोर पर उपलब्ध हैं। एंड्राइड यूजर इस ऐप्प को डाउनलोड करना चाहता है, तो उसे अपने मोबाइल फ़ोन में गूगल प्ले स्टोर पर यह ऐप्प मिल जायेगी।
  • यह ऐप्प iOS और एंड्राइड यूजर दोनों के लिए ही उपलब्ध हैं। ios यूजर इस ऐप्प को प्रयोग करना चाहता है, तो उसे वह इसे अपने मोबाइल के iOS ऐप्प स्टोर पर जाना होगा, और वहाँ से इसे डाउनलोड करना होगा।

Koo app कितनी भाषाओं में उपलब्ध है?

  • ऐप्प को वर्तमान में 5 भाषाओ में के लिए लॉंच किया गया हैं।
  • हिंदी , इंग्लिश, कन्नड़, तमिल , तेलगु तथा इसके अलावा इस ऐप्प में अन्य भाषाओके विकल्प को जोड़ने का कार्य जारी है।

Koo app किसने डेवेलप की है?

  • यह ऐप्प को बंगलुरू की सॉफ्टवेयर कम्पनी बॉम्बनेट टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड ने डेवेलॅप किया हैं।
  • इस ऐप्प में भी लोगो को जोड़ने का विकल्प उपलब्ध है, तथा इसके अलावा इसमें वॉइस अस्सिटेंट जैसे कई अन्य विकल्प भी उपलब्ध हैं।

अभी तक koo app कितना डाऊनलोड हो गया है?

  • गूगल के प्ले स्टोर पर यह ऐप्प 1 मिलियन से भी अधिक लोगो ने डाउनलोड की हैं।
  • तथा प्ले स्टोर पर इस ऐप्प की लगभग 4.6 रेटिंग हैं|

क्या koo app कंप्यूटर & लैपटॉप & विंडो पे चल सकता है?

  • यदि यूजर इस ऐप्प को वेबसाइट के माध्यम से प्रयोग करना चाहता है, तो उसका भी विकल्प कम्पनी ने उपलब्ध किया हैं।
  • इसके लिए यूजर को अपने लैपटॉप / डेस्कटॉप के वेब ब्राउज़र में जाना होगा, ओर वहाँ पर कू ऐप्प सर्च करना पड़ेगा। जिसके बाद इस कू की वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • इसके पश्च्यात प्रयोगकर्ता को इस ऐप्प की वेबसाइट या मोबाइल ऐप्प पर अपना अकाउंट बनाना पड़ेगा जिसके बाद ही प्रयोगकर्ता इसपर कोई पोस्ट या डेटा अपलोड क्र पायेगा।

Koo के बारे में अन्य जानकारी

  • इस ऐप्प पर भारत सरकार के कई सारे विभागों के अकाउंट बन चुके हैं।
  • तथा इसके अलावा सरकार के बड़े मंत्री भी इस ऐप्प पर स्थानान्त्रित हो चुके हैं|
  • इस ऐप्प का सीधा समाना ट्वीटर के साथ होगा, और यह आत्म निर्भर भारत की श्रृंखला में एक और नई ऐप्प जुड़ गयी हैं।

Twiter vs koo app?

  • दोनों में ज्यादा अंतर नही है बस color का अंतर है। जहाँ आपको ट्विटर स्काई ब्लू रंग का दिखता है, वही koo app ka color पीला है।
  • दोनों में सारे फंक्शन एक जैसे है। फॉलो, लाइक जैसे आदि फीचर।
  • ट्विटर की चिड़िया आपको स्काई ब्लू की दिखती है वही koo की चिड़िया पिले कलर की दिखेगी।

Read more related to tech news